छवि के प्रति सजग (Image Conscious)

छवि के प्रति सजग ( इमेज कॉन्शियस )
                               सभ्यता के विकास के साथ साथ मानव अपनी छवि के प्रति सजग होता गया । कभी वह एक अच्छा शिकारी हुआ करता था, कभी वह एक अच्छा धनुर्धर हुआ करता था, कभी वह अच्छा ज्ञानी हुआ करता था ,कभी वह अच्छा कुशल नेतृत्व करता हुआ दिखलाई पड़ता था ,कभी वह अच्छा पेंटर हुआ, कभी वह अच्छा शिल्पकार हुआ ,कभी अच्छा धनी बना यह सारी बाते उसकी  इमेज को बनाती है अर्थात इमेज बहुत सारी विशेषताओं को मिलाकर बनती है। हर देश काल और समय में छवि बनाने के लिए अलग अलग चीजों की आवश्यकता पड़ी, कई बार हम सोचते हैं कि कोई हमारे बारे में क्या सोचता है इससे क्या फर्क पड़ता है, लेकिन ऐसा नहीं है ,फर्क पड़ता है, उदाहरण के लिए यदि हम नौकरी करने जाते हैं तो उस कंपनी की इमेज देखते हैं कि वह हमारे लायक है या नहीं, यदि हमें अपनी बहन या लड़की की शादी करना है तो हम लड़के की इमेज जरूर देखते हैं वह कितना पढ़ा लिखा है ,वह आगे जाकर कितनी  प्रगति करेगा, उसका परिवार कैसा है ,लड़का शराब तो नहीं पीता ,यह सब क्या है यह इमेज तो है जो हमें रिश्तो में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है।  इसी प्रकार किसी देश की भी इमेज होती है                        

यूरोप के देशों की अपनी इमेज है ,मिडिल ईस्ट के देशों की अपनी इमेज और ठीक इसी प्रकार हमारे देश भारत की एक इमेज ,कहने का तात्पर्य हमारे मन मस्तिष्क में किस प्रकार के प्रतिबिंब बनते हैं वह महत्वपूर्ण होते हैं । 21वीं सदी में इमेज के प्रति सजगता बहुत बड़ी है जिसमें रहन-सहन का स्तर, खानपान का स्तर ,कपड़े ,गाड़ी, पैसा और आप की  स्किल महत्वपूर्ण है ।अब तो बाजार में इमेज मैनेजमेंट के कोर्स में चल रहे हैं  कि आप अपनी इमेज कैसे बनाएं? यहां तक कि इस इमेज बनाने के लिए कई लोग समाचार पत्रों का सहारा लेते हैं अर्थात हम माने या ना माने छवि धीरे-धीरे महत्वपूर्ण होते जा रही है .                    

आज इस व्हाट्सएप के युग में भी  इसके माध्यम से अपनी इमेज बनती है इसलिए व्यक्ति को बहुत सोच समझकर अपने मैसेजेस फॉरवर्ड करना चाहिए क्योंकि इस प्रकार के फॉरवर्ड आपकी रुचि और अभिरुचि को दर्शाते हैं आप किस स्तर की सोच रखते हैं आपका मानसिक विकास कितना हुआ है इस प्लेटफार्म का उपयोग हम अपनी इमेज बनाने के लिए कर सकते हैं जैसे दूसरों के अच्छे  मैसेज फॉरवर्ड  करके या  हमारे द्वारा बनाए गए मैसेज फॉरवर्ड करें जिससे न केवल हमारी इमेज बढ़ेगी वरन चिंतन भी बढ़ेगा  जरूरी नहीं है कि हम हमेशा गंभीरता का लबादा ओढ़कर चिंतन करें कभी-कभी हल्के फुल्के हास्य भी  बनाकर भेज सकते हैं लेकिन ख्याल रहे किसी की भावनाएं आहत ना हो किसी मैसेज को फॉरवर्ड करते समय हम हजार बार सोचे कि यह हमारी इमेज किस प्रकार बनाएगा ,तो हम सही निर्णय ले सकते हैं हमारी इमेज बनाना हमारे हाथ में है, निर्णय हमें करना है । अन्त में कहना चाहूंगा हर काल में विद्या और विनय सर्वोपरि होंगे । 

Sudhir Singh Gour 

Set of Shadow Hand Puppets - Vector Elements - Download Free Vectors,  Clipart Graphics & Vector Art

Image conscious (Image Conscious)

 With the development of civilization, humans became aware of their image. Sometimes he was a good hunter, sometimes he was a good archer, sometimes he was a good knowledge-er, sometimes he appeared to be a good skilled lead, sometimes he was a good painter, sometimes he was a good craftsman, sometimes All these things made good money make his image, that is, the image is made by mixing many characteristics. To create an image in every age and time, different things are required, many times we think what someone thinks about us does not matter, but it does not matter, for example if we do the job. If we go to see the image of the company whether it is worth us or not, if we want to marry our sister or girl, then we definitely see the image of the boy, how much he has read, how much progress he will make, How is the family, the boy does not drink alcohol, it is all an image that motivates us to move forward in the relationship. Similarly, there is also the image of a country. The countries of Europe have their own image, the countries of the Middle East have their own image and similarly our country is an image of India, that is to say, what kind of reflections are made in our minds are important. In the 21st century, image awareness is very big, in which the level of living, the level of food, clothes, car, money and your skills are important. Now in the market, in the course of image management, you are going to see how your image Create? Even many people resort to newspapers to make this image, that is, whether we believe or not believe the image is gradually becoming important.  Today, in this era of Whats App, its image is created through it, so one should think very carefully and forward his messages because these types of forward shows your interest and interest. What level of thinking do you think your mental development has been? We can use this platform to create our image like by forwarding the good messages of others or forwarding the messages we have created which will not only enhance our image but will also increase the thinking. Sometimes we can send light-hearted humor, but take care not to hurt anyone’s feelings, while forwarding a message, we think a thousand times how it will make our image, then we can take the right decision by making our image in our hands. We have to decide. Lastly, I would like to say that in every age, learning and humility will be paramount.  

Sudhir Singh Gour

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: