मास्टर एवं शिक्षार्थी, Master and Learner

मास्टर की चार भूमिका होती है पहला मार्गदर्शक, दूसरा शिक्षक, तीसरा मित्र ,और चौथा दार्शनिक । मार्गदर्शक के रुप में गुरु शिक्षार्थी को प्रोत्साहित करते हैं ,कोचिंग करते हैं, सिखाते हैं ,और विचार प्रदान करते हैं । मास्टर शिक्षक के रूप में शिक्षार्थी को समृद्ध बनाता है, शिक्षा देता है ,और ज्ञान प्रदान करता है।Continue reading “मास्टर एवं शिक्षार्थी, Master and Learner”